Categories

Recent post

श्री बगतेश की नगरी पांच पंचायतों में फैला है पीलवा गांव

client-image

श्री बगतेस भोमियाजी

client-imagePosted by Raoji Online

राजस्थान / जोधपुर / फलोदी : जोधपुर जिला मुख्यालय से 110 किलोमीटर उत्तर की ओर स्तिथ गांव पीलवा लगभग 12 किलोमीटर के दायरे में फैला हुवा है l वर्तमान में इस गांव में भोजाकोर, सदरी, फतेहसागर, दयाकौर, कुशलावा व रावतनगर ग्राम पंचायतों का गठन हुवा है l ये सभी मूल रूप से पीलवा के भाग ही जाने जाते हैं l

 राजपूतों के चांपावत राठौड़ो की बहुतायत वाला यह गांव 14 वीं शताब्दी तक देवराज राठौड़ो का गांव था l उसी समय पाली जिले के कंटालिया गांव से उदैभान जी चांपावत यहाँ आये और तब से यहाँ के जागीरदार विट्टलदासोत चांपावत राठौड़ राजपूत हुए l वर्तमान में गांव में 700 परिवार चांपावत राजपूतों के हैं और उनके नो वास हैं l इसके अलावा 100 जसोड़ भाटियों के, 100 देवराज राठोड़ों के हैं l राजपूतों के अलावा गांव में राजपुरोहित, विश्नोई, जाट, मेघवाल, कुम्हार, ब्राह्मण, महाजन, भील, खत्री, देशांतरी, स्वामी, साद, ढोली, लोहार, सुनार, नाइ, दर्जी, गवारिया, रावण राजपूत, सुथार, हरिजन, जोगी, साटिया सहित लगभग सभी जातियों के 3000 से अधिक परिवार गांव में बसते हैं l जोधपुर जिले की फलोदी तहसील व लोहावट विधानसभा में स्तिथ गांव में मूलभूत सुविधाओ का विस्तार निकट के अन्य गाँवो की अपेक्षा तेजी से हुवा l आज से 50 वर्ष पूर्व बने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र व पेयजल के लिए खुदे ट्यूबवेलों से आस पास के सभी गांव लाभाविन्त होते हैं l वर्तमान में गांव में एक उच्च माध्यमिक विद्यालय सरकारी तौर पर संचालित है l

लोक देवता बगतसिंह : पुरे गांव में लोक देवता बगतसिंह को आराध्य के रूप में पूजा जाता है और उनके चमत्कारों के कारण सुदूर मालाणी क्षेत्र के गाँवो से भी श्रद्धालओं की आवाजाही रहती है l बगतसिंह जी वीरतापूर्वक जुंझ कर जुंझार हुए थे l गांव के मध्य उनका भव्य मंदिर बना हुवा है l हर माह की पूर्णिमा को विशाल मेला भरता है एवं चैत्री पूर्णिमा को विशाल जागरण होता है l रात्रि 12 बजे पुरे गांव की परिक्रमा की जाती है एवं गांव के सभी घरों से लाए गए दूध की धार दी जाती है l एक मान्यता के चलते गांव में आज भी कोई दो मंजिला मकान नहीं बनाता l गांव के अनेक परिवार जोधपुर व अन्य शहरो में बेस हुवे हैं l

राजनीती प्रभाव: राजनीती में गांव का प्रारम्भ से ही प्रभाव रहा है l रियासत काल में गांव के लोग जोधपुर राज्य के कहीं महत्वपूर्ण पदों पर रहे व विशेष प्रभाव रखते थे ल आजादी के बाद भी यह सक्रियता बनी रही l

चर्चित चेहरे :
1. नरपत राम बरवड़ राजस्थान सरकार में राजस्व मंत्री रहे l
2. गोपाल सिंह पूर्व प्रधान रहे l
3. नारायण सिंह चांपावत राजस्थान पुलिस में अधिकारी व "सद्दाम" के नाम से बहुत चर्चित रहे l
4. शिवदत्त सिंह मारवाड़ राजपूत सभा के अध्यक्ष रहे l

5. भवानी सिंह चांपावत जो इतिहासविद्व रहे ।


इस प्रकार गांव के लगभग प्रत्येक परिवार से एक सरकारी कर्मचारी मिल जायेगा l

client-image

Raoji Online

A Traditional Online Family Tree & History Portal

Comments

RAGHUVEER SINGH CHAMPAWAT

BHAWAI SINGH JI CHAMPAWAT PEELWA JINKO HUKAM PIDIYO KI BAHUT ACHI JANKARI THI DUR DUR SE UN KO PUCNE ATE THE JANKARI.... GAW ME KISI KO BI PUCOGE WO BI EK MAHAN INSAN THE HUKAM....

Raoji Online

Thanx Raghuveer singh sa ..Bhawani Singh ji champawat also update.

विजेंद्र शेखावत

बहुत अच्छी जानकारी सा। शेयर करने के लिए आभार।

Raghuveer Singh Himmat Nagar peelwa

विवाह में सात फेरे क्यों लेते हैं ? आईये जानते है उनके सही अर्थ ।http://www.raojionline.com/read_blog?id=32

ishwar singh

हुक्म आप जो बताते है फैमिली ट्री उसे बनाये कैसै और आप हो सके तो मेरे गाँव गजसिहंपुरा के बारे मे जानकारी देवे

Sukh dev

प्राण किशोर राजपूत कुमावत नई दिल्ली -55

छत्तिरय कुमावत की ऊतपती कब कसे हुई बतायें

प्राण किशोर राजपूत कुमावत नई दिल्ली -55

छत्तिरय कुमावत की ऊतपती कब कसे हुई बतायें

Pushpraj

Pushpraj sing

Rawal Singh bhati

सब बगतेश धणी की मेहरबानी है

Recent post