Categories

Recent post

“राजपूताना राइफल्स” की ऐसी 17 बातें जिन्हें जानकर आपका सीना गर्व से चौड़ा हो जाएगा

client-image

client-imagePosted by Virendra Pal Singh Denok

1. ‘राजपूताना राइफल्स’ इंडियन आर्मी का सबसे पुराना और सम्मानित राइफल रेजिमेंट है. इसे 1921 में ब्रिटिश इंडियन आर्मी के तौर पर विकसित किया गया था.

 

Source: topyaps

2. सन् 1945 से पहले इसे 6 राजपूताना राइफल्स के तौर पर जाना जाता था क्योंकि, इसे तब की ब्रिटिश इंडियन आर्मी के 6 रेजिमेंट्स के विलय के बाद बनाया गया था.

Source: nam

3. राजपूताना राइफल्स को मुख्यत: पाकिस्तान के साथ युद्ध के लिए जाना जाता है.

Source: youtube

4. 1953-1954 में वे कोरिया में चल रहे संयुक्त राष्ट्र संरक्षक सेना का हिस्सा थे. साथ ही वे 1962 में कौंगो में चले संयुक्त राष्ट्र मिशन का भी हिस्सा थे.

Source: youtube

5. राजपूताना राइफल्स की स्थापना 1775 में की गई थी, जब तात्कालिक ईस्ट इंडिया कम्पनी ने राजपूत लड़ाकों की क्षमता को देखते हुए उन्हें अपने मिशन में भरती कर लिया.

Source: topyaps

6. तब की बनी स्थानीय यूनिट को 5वीं बटालियन बंबई सिपाही का नाम दिया गया था. इसे 1778 में 9वीं बटालियन बंबई सिपाही के तौर पर रि-डिजाइन किया गया था. रेजिमेंट को 1921 में फ़ाइनल शेप देने से पहले 5बार रि-डिजाइन किया गया.

Source: renustudio

7. 2 राजपूताना राइफल्स वहां लड़ने वाली 7 आर्मी यूनिट्स में से पहली यूनिट थी, जिसे 1999 में हुए कारगिल युद्ध में बहादुरी के लिए आधिकारिक तौर पर सम्मान पत्र से नवाज़ा गया था.

Source: topyaps

8. राजपूताना राइफल्स का आदर्श और सिद्धांत वाक्य “वीर भोग्या वसुंधरा” है. जिसका अर्थ है कि ‘केवल वीर और शक्तिशाली लोग ही इस धरती का उपभोग कर सकते हैं’. अब और कुछ बाकी है क्या?

Source: imgsoup

9. राजपूताना राइफल्स का युद्धघोष है... “राजा रामचन्द्र की जय”

Source: youtube

10. राजपूतों के अलावा, राजपूताना राइफल्स में जाट, अहीर, गुज्जर और मुस्लिमों की भी अच्छी-ख़ासी संख्या है.

Source: topyaps

11. प्रथम और द्वितीय विश्व युद्ध के दौरान राजपूताना राइफल्स के लगभग 30,000 सैनिकों ने अपनी जान गंवा दी.

Source: pinterest

12. मध्यकालीन राजपूतों का हथियार कटार और बिगुल राजपूत रेजिमेंट का प्रतीक चिन्ह है.

Source: imgsoup

13. राजपूत रेजिमेंट और राजपूताना राइफल्स दो अलग-अलग आर्मी यूनिट हैं.

Source: youtube

14. दिल्ली में स्थित राजपूताना म्यूजियम राजपूताना राइफल्स के समृद्ध इतिहास की बेहतरीन झलक है. यह पूरे भारत के बेहतरीन सेना म्यूजियमों में से एक है.

Source: imgsoup

15. 6th बटालियन राजपूताना राइफल्स के कम्पनी हवलदार मेजर पीरू सिंह शेखावत को 1948 में हुए भारत-पाक युद्ध के बाद, मरणोपरांत सेना में अदम्य साहस के लिए दिए जाने वाले तमगे “परम वीर चक्र” से नवाज़ा गया.

Source: shekhawat

16. राजपूताना राइफल्स को आज़ादी पूर्व 6 विक्टोरिया क्रॉस से नवाज़ा गया है. जो अदम्य साहस, इच्छाशक्ति और अभूतपूर्व सेवाभाव का परिचायक है.

Source: heraldsun

17. राजपूताना राइफल्स के अधिकतर मेंबरान अपनी विशेष शैली की मूछों के लिए पूरी दुनिया में जाने जाते हैं.

Source: defence.pk

अब तक आपको इतना तो समझ में आ ही गया होगा कि पूरी दुनिया की फौजें और ख़ास तौर पर पाकिस्तान और चीन की फौज “राजपूताना राइफल्स” से इतना ख़ौफ क्यों खाती हैं.

 

client-image

Virendra Pal Singh Denok

Founder Of Raoji Online & working with a NBFC

Comments

Indian

I was very pleased to find this site.I wanted to thank you for this great read!! I denlfiteiy enjoying every little bit of it and I have you bookmarked to check out new stuff you post.

Recent post