Categories

Recent post

महानगरों में शिक्षा, माटी से मोह...राजस्थानी संस्कृति से हद तक दीवानगी रखने वाले एेसे ही शख्स है बोया गांव के रिछपालसिंह राणावत।

client-image

client-imagePosted by Virendra Pal Singh Denok

राजस्थान/पाली. महानगर बैंगलोर से स्नात्तक और लंदन से मैनेजमेंट की मास्टर डिग्री करने के बाद कोई युवा अपना कॅरियर जन्म भूमि की पहचान के लिए समर्पित कर दे, एेसा आज के दौर में दुर्लभ ही लगता है। राजस्थानी संस्कृति से हद तक दीवानगी रखने वाले एेसे ही शख्स है बोया गांव के रिछपालसिंह राणावत।

महज 28 साल के राणावत ने मायानगरी मुम्बई में राजस्थानी संस्कृति की पहचान बनाने के लिए अपनी शिक्षा के इत्तर राह चुनी। उन्होंने संगीत की दुनिया में कदम रखा। राजस्थानी संगीत को अलग पहचान दिलाने की एेसी धुन सवार हुई कि अब तक वह एक दर्जन से अधिक गानें गा चुके हैं। रिछपाल (रिच्ची बन्ना) के गानों की यू-ट्यूब समेत सोशल मीडिया पर धूम मची रहती है। खासतौर से युवाओं में काफी लोकप्रियता है।

 

महानगरों में शिक्षा, माटी से मोह

रियल एस्टेट कारोबारी रघुवीरसिंह राणावत का लोणावाला मुम्बई में व्यवसाय है। उनके पुत्र रिछपाल की प्रारंभिक शिक्षा बैंगलोर में हुई। तत्पश्चात मैनेजमेंट की डिग्री लंदन से की। पूरी शिक्षा-दीक्षा महानगरों में होने के बावजूद उस पर संस्कार और संस्कृति का प्रभाव रहा। शिक्षा पूरी करने के बाद रिछपाल राजस्थानी भाषा और संस्कृति को बढ़ावा देने में जुट गए। उन्होंने एक टीम बनाई और राजस्थान के विभिन्न हिस्सों में गाने शूट किए। उनके गानों की थीम राजस्थान और उसकी संस्कृति है।

 

 युवाओं व् बच्चों में काफी लोकप्रिय

रिछपालसिंह राणावत खासतौर से युवाओं व् बच्चों में काफी लोकप्रिय है, उन्हें बच्चों से मिलना जुलना भी बहुत अच्छा लगता हैं I      

 

दुनिया में कायम रहे हमारी पहचान

राजस्थान का इतिहास और यहां की संस्कृति जितनी समृद्ध है उतनी शायद ही किसी की होगी। हमारी खूबियां दुनिया के सामने जानी चाहिए। मुझे अपनी माटी से बेहद लगाव है। इसलिए गानों के जरिए दुनिया तक पहुंचा रहा हूं। राजस्थानी गाने युवाओं को खूब पसंद आ रहे हैं। यही मेरी संतुष्टि है। मैं अपनी संस्कृति की पहचान कायम रखने में अपना योगदान देता रहूंगा।

रिछपालसिंह राणावत, निवासी बोया, हाल लोणावाला-मुम्बई

 

 

 

साभार राजस्थान पत्रिका

client-image

Virendra Pal Singh Denok

Founder Of Raoji Online & working with a NBFC

Comments

parveen singh karnot

Nice banna

Recent post